य द क ब र त न कल ह आ द ल क द व र सपन क शहन ई ब त द न क प क र

यादों की बारात निकली है आ दिल के द्वारे
 
 सपनों की शहनाई बीते दिनों को पुकारे

यादों की बारात निकली है आ दिल के द्वारे

सपनों की शहनाई बीते दिनों को पुकारे

यादों की बारात निकली है आ दिल के द्वारे सपनों की शहनाई बीते दिनों को पुकारे

Let's Connect

sm2p0